Citizen Charter


 

  • आधुनिक तकनीकी अपनाकर नये खनिज भंडारों के अन्वेषण में तीव्रता लाना।

  • खनिज प्रक्रिया में निजी एवं विदेशी पूंजी निवेश को प्रोत्साहित कर उद्यमिता का विकास  करना।

  • उद्यमियों को खनिज आधरित सूचना/ आंकड़े तकनीकी ज्ञान एवं परामर्श उपलब्ध कराना।

  • खनिजों का उचित उपयोग, खनिज निर्यात को बढ़ावा एवं खनिजों के उच्चीकरण सम्बन्धी कार्यवाही करना।

  • कार्य प्रणाली में सरलीकरण करके निर्णय प्रक्रिया में पारदर्शिता लाना।

  • खनिज विकास हेतु पूरक अवस्थापना सुविधाएं सुगम बनाना।

  • खनन एवं खनिज आधारित उद्योग की आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए मानव संसाधन को प्रोत्साहित करना।

  • खनन के दौरान एवं उसके पश्चात पर्यावरण एंव पारिस्थितिकी के संतुलन का संरक्षण करना।

  • मुख्य खनिजों के लिये उद्यमियों को खनिज अन्वेषण हेतु रिकनासेंस परमिट/ प्रास्पेक्टिंग लाइसेंस निर्गत करना।

  • खनिज सेक्टर में रोजगार के अवसरों को बढ़ावा देने तथा सामाजिक न्याय के उद्देश्य से खनन कार्यों में पारम्परिक रूप से लगे कमजोर व पिछड़े वर्ग के व्यक्तियों को सहायता/ प्राथमिकता प्रदान करना।

  • खान प्रक्रियाओं में लगे व्यक्तियों की सुरक्षा एवं कल्याण की व्यवस्था करवाना।

  • खनन प्रक्रियाओं में लगे व्यक्तियों  के परिवारों के लिए खनिज निधि के माध्यम से विभिन्न सुविधाओं की स्थापना करवाना।

  • उद्यमियों को निदेशालय की विभिन्न प्रयोगशालाओं के माध्यम से तकनीकी सुविधाऐं निर्धारित दरों पर उपलब्ध  करवाना।

  • खनिज विकास को प्रोत्साहित करने हेतु देश/ विदेश में सेमिनार/ प्रदर्शिनी में सम्मिलित होना।

 


 

Copyright 2007 | Directorate of Geology & Mining, Uttar Pradesh | Best viewed at 1024x768 pixel resolution with IE 6.0 or above